Are you looking for best शायरी status? We have 1487+ status about शायरी for you. Feel free to download, share, comment and discuss every status,quote,message or wallpaper you like.



Check all wallpapers in शायरी category.

Sort by

Oldest Status 1251 - 1300 of 1487 Total

ना रुकेंगे ये कदम ज़माने की फ़िक्र में, आज खिलाफत में हैं, कल यहीं मेरी वकालत करेंगे।

आज सवेरे-सवेरे मुझे Income Tax वालो का Call आया, बोले – “इतने बढ़िया STATUS मत डाला करो, वरना Tax लगा दूँगा”

याद रखना, युही मैंने हवा मे तीर नहीं चलाये हैं, जो मेरे से औकात-औकात करते थे, उन्हे उनकी सही जगह भी दिखाई हैं।

दोस्ती दिल से करोगे तो जान भी देने के लिए तैयार हूँ लेकिन, दुश्मनी गलती से भी की, तो जान भी लेने के लिए तैयार हूँ।

Experience की तो बात ही मत कर साले क्योंकि 206 हड्डियों को पूरे, 2006 तरीके से तोङने का Experience हैं अपना।

हमारे पास पैसे और शौहरत तो नही पर इतना दम तो रखते हैं, कि अगर दोस्ती कि किमत मौत भी होगी तो हम खरीद लेंगें।।

हम थोड़े से चुप क्या हुए, बच्चे शौर मचाने लगे, नफरत भी हम हैसियत देख कर करते हैं, प्यार तो बहुत दूर की बात हैं।

भले ही तू BLUE EYES की तरह CUTE दिखती हो, पर तू BEAUTIFUL तब तक नहीं, जब तक तेरे HERO हम नहीं।

तु क्या हमारी बराबरी करेगी ‪पगली, हमारी तो नींद में खींची हुई फ़ोटो भी लोगों की लिए पोज़ बन जाती हैं।

हथियार तो सिर्फ शौक के लिए रखा करते हैं, वरना किसी के मन में खौंफ पैदा करने के लिए तो बस हमारा नाम ही काफी हैं।

अभी वाकिफ़ ही कहाँ हैं लोग हमारे उड़ान से, वो और थे जो बह गए तूफ़ान में हम जैसा बनने की कोशिश छोड़ दो, शेर पैदा होते हैं बनाए नहीं जाते।

मेरे पास ‪‎Jaanu‬ ‪Baby कहने वाली ‪Gf नहीं हैं तो क्या हुआ, मेरे पास ‪‎Raja‬ Beta कहने वाली ‪‎MAA तो हैं, जो मुझसे बहुत प्यार करती हैं।

खुलकरर सामना करते हैं हम अपनी मुसीबतों से, फिर चाहे मामला प्यार का हो या दुश्मनी का, जीत हमेशा हमारी होती हैं।

सर झुकाने की आदत नहीं हैं हमें, आँसू बहाने की आदत नहीं हैं हमें, हम खो जायेंगे तो पछताओंगे तूम, क्योंकि वापस आने की आदत नहीं हैं हमें।

सुन पगली अपने हुस्न पे इतना मत इतरा, अगर तेरे पास cuteness वाली smile हैं, तो हमारे पास King वाली style हैं।

खुशबू बनकर गुलों से उड़ा करते हैं, धुआं बनकर पर्वतों से उड़ा करते हैं, हमें क्या रोकेंगे ये ज़माने वाले, हम परों से नहीं, हौसलों से उड़ा करते हैं।

सूरज, चाँद और सितारे मेरे साथ में रहे, जब तक तुम्हारा हाथ मेरे हाथ में रहे, शाखों से जो टूट जाये वो पत्ता नहीं हैं हम आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे।

हम बदलते है, तो निज़ाम बदल जाते है सारे मंज़र सारे अंजाम बदल जाते है, कौन कहता है राजपूत फिर से पैदा नहीं होते पैदा होते है बस नाम बदल जाते हैं ।।

जब हमारी मुलाकात हमारे दुश्मनो से हो गई, और भी तेज चाँद सितारों की जगमगाहट हो गई, हम तो दुश्मनो को जलाकर खाक करने ही वाले थे फिर ये न जाने क्यूँ अचानक से बरसात हो गई..।।

हौंसले हो बुलंद तो हर मुश्किल को आसां बना देंगे, छोटी टहनियों की क्या बिसात, हम बरगद को ही हिला देंगे वो और हैं जो बैठ जाते हैं थक कर मंजिल से पहले, हम बुलंद हौंसलों के दम पर आसमां को ही झुका देंगे..।।

चमक सूरज की नहीं मेरे किरदार की है खबर ये आसमाँ के अखबार की है, मैं चलूँ तो मेरे संग कारवाँ चले, बात गुरूर की नहीं, ऐतबार की है..।।

हमको आज़माने की ज़ुर्रत नहीं किसी की, हम खुद अपनी तक़दीर लिखते है, खुदा की लिखावट को बदलना तो हमारी फ़ितरत है, हार को जीत में बदल कर हाथो की लकीर बदलते है।

गुजरते लम्हों में सदियाँ तलाश करता हूँ, प्यास इतनी है कि नदियाँ तलाश करता हूँ, यहाँ पर लोग गिनाते है खूबियां अपनी, मैं अपने आप में कमियाँ तलाश करता हूँ।

इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ, सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ, जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश, मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ।।।

माना की तू चाँद हैं, तुझे देखने को लोग तरसते हैं मगर हम भी सूरज जैसे हैं, लोग हमे देखकर अपना सर झुकाते हैं।

जो खुशियां हमे खैरात में मिले, उसे हम पसन्द नही किया करते हैं, क्योंकि गम में कितने भी काले बादल छा जाएं फिर भी हम नबाबो की तरह जिया करते हैं।

भूलकर हमें अगर तुम रहते हो सलामत, तो भूलके तुमको संभलना हमें भी आता है मेरी फ़ितरत में ये आदत नहीं है वरना, तेरी तरह बदल जाना हमें भी आता है..।।

जा वेबफा तेरी नफरत में वो दम कहाँ, जो मेरे इश्क को मिटा दे, ये इश्क है कोई खेल का मैदान नही, जिसे कल खेला और आज रो कर भुला दे।

माना की नसीब में मेरे कोई सनम नहीं फिर भी कोई शिकवा कोई गम नहीं, तनहा थे और तनहा जिए जा रहे है, बदनसीब तो वो है जिनके नसीब में हम नहीं।

ठोकर ना लगा मुझे, पत्थर नहीं हूँ मैं, हैरत से ना देख, कोई मंज़र नहीं हूँ मैं, तेरी नज़र में मेरी कदर कुछ भी नही, मगर उनसे पूछ जिन्हें हासिल नही हूँ मैं।

अपनी ज़िन्दगी में काम करो ऐसा के पहचान बन जाये इस तरह से चलो के निशान बन जाये, ज़िन्दगी तो हर कोई काट लिया करता है, इस तरह से ज़िन्दगी गुजारो के मिसाल बन जाये..।।

कहते है हर बात जुबां से, हम इशारा नहीं करते, आसमां पर चलने वाले जमीं से गुज़ारा नहीं करते हर हालात बदलने की हिम्मत है हम में, वक़्त का हर फैसला हम गँवारा नहीं करते..।।

कौन कहता है हम उसके बिना मर जाएंगे, हम तो दरिया हैं,समुन्दर में उतर जाएंगे, वो तरस जाएंगे प्यार की एक एक बून्द के लिए, हम तो बादल है प्यार के, किसी और पर बरस जाएंगे

सर झुकाने की आदत नहीं है, आँसू बहाने की आदत नहीं है, हम खो गए तो पछताओगे बहुत, क्युकी हमारी लौट के आने की आदत नहीं है।

लाख कोशिशें करते हैं लोग, पर सबको हासिल तख्तो ताज नही होता है, शोहरत तो कमाना आसान है, पर सबका हमारे जैसा इस्टाइल नही होता है।

आने वाली को रोकता नहीं, जाने वाली को टोकता नहीं, मै नवाब हूँ पगली, इसलिए किसी के सामने झुकता नहीं।

हमारी शख्सियत का अंदाज़ा तुम ये जान के लगा लो, हम कभी उनके नही होते, जो हर किसी के हो जाए..।।

लाखों के दिलों की धड़कन हमारे लिए धड़कती है, न जाने कितनो की चूड़ियां हमारे लिए खनकती हैं, तुम हमारी बेशक न हो सकीं, लेकिन हमारे लिए तो लाखों तड़पती हैं….।।।।।।।

हमसे प्यार से मिलोगे तो, फूलो की तरह खिल जायेगें, और हमसे नफरत से मिलोगे तो, काटें नही, हम तलवार बन जायेंगे।

दौड़ में हिस्सा वो लोग लेते हैं, जो अपना लक आज़माया करते हैं, हम तो खिलाड़ियों के खिलाड़ी हैं, हम तो लक के साथ खेला करते हैं।

हम ज़ुबान के तीर चलाया करते हैं, इशारों में बात किया नही करते। हम अपने पैर आसमान पर रखने का हौसला रखते हैं, ज़मीन की चाह हम रखा नही करते। हम तो वो हैं जो हर हालत को अपने दम पर बदलना जानते हैं, हम तो वो हैं जो वक्त को भी बदल डालें वक्त के आगे झुकना हम गवारा किया नही करते।

हम कभी अपनी तारीफ के मोहताज हुआ नही करते, अगर कोई कर दे अपनी तारीफ, तो उसे हम इनकार भी नही करते।

किसी को भी मैं निचा दिखाऊ, ऐसी मैं अपनी आदत नही रखता, और कोई मुझे नीचा दिखाए, तो कोई ऐसी औकात नही रखता।

रास्ते बदल जाएं या टाइम बदल जाये, कुछ भी हो हम तो अपनी मन्ज़िल पाएंगे, और जो खुद को समझते हैं राजा उन्हें एक दिन अपनी महफ़िल में ज़रूर नचाएंगे।

थोड़े ही पलों की खामोशिया हैं, फिर देखना एक दिन कानो में शोर आएगा, अभी तो सिर्फ तुम्हारा वक्त ही चल रहा है, लेकिन अपना तो एक दिन दौर आएगा।

चिंता को तलवार की नोक पे रखे, वो है राजपूत। रेत की नाव लेकर समुंदर से शर्त लगाये, वो है राजपूत। और जिसका सर कटे, फिर भी धड़ दुश्मन से लड़ता रहे, वो है राजपूत।

झुंड मे रहने वालो आजमा कर देखना कभी हमारी छाती पर फौलाद भी पिघलता है, शेर सा जिगरा है “राजपूत” का हमेशा अकेला निकलता है …।।।।

हर तलवार पे राजपूतों की कहानी है, तभी तो ये दुनिया राजपूतों की दीवानी है, मिट गए राजपूतों को मिटाने वाले, क्यूंकि दहकती आग मैं तपती राजपूतों की जवानी है।

वैसे तो हम दिल के बहुत अच्छे हैं, फिर भी लोग खराब कहते हैं, ये ज़माने वाले हमे बिगड़े हुये नबाब कहते हैं, इस कदर इस ज़माने ने बदनाम किया है, अब तो हम पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं।

मैंने तुझसे मोहब्बत की है कोई गुलामी नही, मैं जानता हूँ तू किसी राजकुमारी से कम नही, लेकिन वो राजकुमारी ही क्या जिसके राजकुमार हम नही।

शायरी Page 1

शायरी Page 2

शायरी Page 3

शायरी Page 4

शायरी Page 5

शायरी Page 6

शायरी Page 7

शायरी Page 8

शायरी Page 9

शायरी Page 10

शायरी Page 11

शायरी Page 12

शायरी Page 13

शायरी Page 14

शायरी Page 15

शायरी Page 16

शायरी Page 17

शायरी Page 18

शायरी Page 19

शायरी Page 20

शायरी Page 21

शायरी Page 22

शायरी Page 23

शायरी Page 24

शायरी Page 25

शायरी Page 26

शायरी Page 27

शायरी Page 28

शायरी Page 29

शायरी Page 30